सटीयातर

सटियातर केसे हुए, इसकी इन्हे स्वयं जानकारी नही है परन्तु इनको ये अभी तक पता नही है कि हम राजगुरु है और अजारी से आये हुए है | रानीवाड़ा पं. इत्यादी में भी कुछ परिवार है | बुजुर्गो व भावी पीढी को पता है की हम राजगुरु है व अजारी से हमारे पूर्वज भ्रमण करते करते यहाँ आकर बसे | इस जाति / गौत्र का इतिहास / विवरण अगर आपके पास हो तो कृपया हमें 9782288336 नंबर पर व्हाट्स अप्प कर सकते है | धन्यवाद्

Back