कोसाणी / कोषाना

जिस तरह से सोशलगढ़ से कोसरिया _ हुए . कोसरिया लखा । निकलने से लखावा हुए उसी तरह कोषाना ग्राम को पीछे कोषाना हुए बताते हैं याकि बाहर कई स्थानो पर ये कोषाना से उते हुए लादेश कहते है । इनमें भी सात मेद हो सकता है परन्तु ऋषि उदालक को ही मानते हैं बुजुर्ग लोग उदेश ही कहते हैं । गुजरात में रवी बिडी ) 135 घर रवि ( छोटी ) में 6 घर ।
इस जाति / गौत्र का इतिहास / विवरण हमारे पास उपलब्ध नही हैं | अगर आपके पास हो तो कृपया हमें 9782288336 नंबर पर व्हाट्स अप्प करें | धन्यवाद्

Back