व्यास

व्यास - व्यास एक सम्मान जनक पद है । जो कथा प्रसंग धार्मिक प्रवचन पूराणी व श्रीमद् भागवत के कथा प्रसंग आसन पर बैठकर सुनाते थे वे व्यास कहलाते थे कुछ विद्वानों का कहना है कि व्यास वेदव्यासजी के वंशज हो सकते है । परंतु ऋषि गौत्र सभी शाडिल्य स्वीकार करते है ।
इस जाति / गौत्र का इतिहास / विवरण हमारे पास उपलब्ध नही हैं | अगर आपके पास हो तो कृपया हमें 9782288336 नंबर पर व्हाट्स अप्प करें | धन्यवाद्

Back