www.rajpurohitjansampark.com
Category
Contact: 0

m.s rajpurohit

मै अपनी पढ़ाई गांव से शुरु कर दादा जी और उनके भाई आर्मी होने के कारण हमारे परिवार मे देश सेवा का भाव रहा है
उसके बाद हमारे अंकल ने कानोडिया में आर्मी ऑफिसर बनने का मोका मिला तो हमारे मे और आर्मी का रास्ता मिलने और जानकारी मिली और हमने तेहारी की और इंडियन आर्मी दोनों भाइयो का चयन 2014 में हुआ
और वर्तमान में जम्मू एंड कश्मीर अपनी ईमानदारी से सेवा दे रा हु मैने अपने परिवार से शिक्षा लेके याह तक पंहुचा हु मेरा पूरी मेहनत उनका साथ ही भगवान की दया से मै याह तक पंहुचा हु मुझे समाज पर गर्व है की मै इंडियन आर्मी हु

Back

Advertisement